निबौली सत् एक सस्ता घरेलू जैविक कीटनाशक

कृषि प्रधान देश भारत में दिनो  दिन बढ़ती आवादी का सीधा प्रभाव खाद्यान्न पर है। पिछले वषों में अनाज का उत्पादन तो बढ़ा है, परन्तु इसको सावधानी से संरक्षित न किया जाय तो इसमें घुन, कीड़े, सूड़ी व फंफूद लगने की सम्भावना बढ़ जाती है, तथा यह खाने व बीज योग्य नहीं रहता है खाद्यान्नों के भण्ड़ारण के लिए जो कीटनाशी या रसायन प्रयोग में लाये जाते हैं वे प्रायः जहरीले होते हैं जिसके कारण प्राणी जीव पर इसका विपरीत कुप्रभाव पड़ता है। इस प्रकार संरक्षित अनाज बिना धन खर्च किये मानव के लिए भी पौष्टिक एवं स्वास्थ्यवर्धक रहेगा। प्राणी जीव एवं खाद्यान्नों के भण्ड़ारण में नीम का उपयोग इस प्रकार है।

19 खरब 50 अरब 40 करोड़ का सालाना व्यापार बस हम सब को बीमार बनाने के लिऐ हो रहा है

19 खरब 50 अरब 40 करोड़ का सालाना व्यापार बस हम सब को बीमार बनाने के लिऐ हो रहा है। नहीं विश्वास हो रहा ना इस अणपढ़ जाट की बात पर तो ये लेख ध्यान से पढ़णा:-

बौद्धिक लड़ाई ना एक दिन में लड़ी जाती और ना जीती जाती, इस के लिए तो सैकड़ों साल लगते हैं और पीढियाँ की पीढियाँ खप जाती हैं। एक बौद्धिक लड़ाई है जैविक कृषि बनाम रसायनिक कृषि और अंत में विजय जैविक खेती की ही होनी है कंपनियां चाहे जो मर्जी कर लें।

वर्मीवाश एक तरल जैविक खाद

वर्मीवाश

बनाने की प्रक्रिया:- वर्मीवाश इकाई बड़े बैरल/ड्रम, बड़ी बाल्टी या मिट्टी के घड़े का प्रयोग करके स्थापित की जा सकती है। प्लास्टिक, लोहे या सीमेन्ट के बैरल प्रयोग किये जा सकते हैं जिसका एक सिरा बन्द हो और एक सिरा खुला हो। सीमेंट का बड़ा पाईप भी प्रयोग किया जा सकता है। इस पाईप को एक ऊंचे आधार पर खड़ा रखकर नीचे की तरफ से बंद करें। नीचे की तरफ आधार के पास साईड में छेद (1 इंच चौड़ा) करें। इस छेद में टी पाईप डालकर वाशर की मदद से सील करें। अंदर की ओर आधा इंच पाईप रखें तथा बाहर इतना कि नीचे बर्तन आसानी से रखा जा सके। बाहर टी पाईप के छेद में नल फिट करें तथा दूसरे छेद में नट लगायें जो

बीजोपचार का कृषि मे महत्व

BeejUpchar, बीजउपचार

कृषि क्षेत्र की प्राथमिकता उत्पादकता को बनाये रखने तथा बढ़ाने मे बीज का महत्वपूर्ण स्थान है। उत्पादकता बढ़ाने के लिए उत्तम बीज का होना अनिवार्य है। उत्तम बीजों के चुनाव के बाद उनका उचित बीजोपचार भी जरूरी है क्यों कि बहुत से रोग बीजो से फैलते है। अतः रोग जनको, कीटों एवं असामान्य परिस्थितियों से बीज को बचाने के लिए बीजोपचार एक महत्वपूर्ण उपाय है।

बीजोपचार के लाभ

Pages